ताजा खबर
Home / गेब्रियल और उसके पंख | Hindi Story

गेब्रियल और उसके पंख | Hindi Story

jokes-junction-story-3यह तब की बात है जब चंद्रमा पहली बार अस्तित्व में आया था और सूरज की भांति ही गर्म और चमकीला था । तब धरती पर रहने वाले को यह पता लगाना मुश्किल होता था कि कब दिन हुआ और कब रात को न सोने में और सो कर उठने में भी परेशानी होती थी क्योंकि समय का अनुमान ही नहीं लगा पाते थे। लोगों की यह परेशानी देखकर ईश्वर ने देवदूत गेब्रियल से चंद्रमा के एक भाग को ढक देने को कहा ताकि प्रकाश कुछ कम हो जाए। कहा जाता है कि तब गेब्रियल ने अपने पंख फैलाए और चंद्रमा को ढक लिया आज जो हम चांद पर पड़े निशान देखते हैं ,वह गेब्रियल के पंखों की रगड़ के है।